fake news

Fake News: हिंदुओं को बनाया जा रहा है नामर्द?

सोशल मीडिया पर हाल ही में एक पोस्ट वायरल हो रहा है के। कोयंबटूर में एक रेस्टोरेंट हिंदुओं को अलग और मुस्लिम को अलग बिरयानी परोस रहा है। जो बिरयानी हिंदुओं को खिलाई जा रही h उसके इंसान को नामर्द बनाने की दवा मिलाई जा रही है। जी हां ये पोस्ट RD Singh (@RD_Rana) नाम के  Twitter Handler से पोस्ट किया गया था।

कोयंबटूर पुलिस ने खुलासा किया है के ये न्यूज़ सरासर गलत है। और वो इसकी जांच में लगे हैं। और उस Source को खोजने में लगे है जिस से ये पोस्ट सब से पहले शेयर किया गया था।

जो तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की गई है उसमे एक आदमी बिरयानी सर्व करते दिखाया गया है जिसके आगे 2 बड़े बर्तनों में बिरयानी रखी गई है। और एक बर्तन में बिरयानी के साथ साथ वो दवाई भी दिखाई गई है जिसका ज़िक्र हमारी पोस्ट में किया गया है।

हालांकि ये न्यूज़ बिल्कुल झूट है और कोयंबटूर पुलिस ने भी इसकी जांच करने के बाद खुलासा कर दिया है के ये एक Fake News है।

ये पोस्ट इस कैप्शन के साथ ट्विटर पर शेयर की गई थी। और अब इसे ट्विटर से हटा दिया गया है।

“Biryani is cooked in separate vessels for Muslims & Hindus. The Biryani for Hindus is laced with tablets that makes one impotent. Restaurant in Coimbatore called Masha Allah of Rehman Bismillah was caught selling such Biryani. Beware! They’re getting at you in every possible way.”

इस पोस्ट को Facebook पर सर्च करने से हमने जाना के इस पोस्ट को वहां पर भी शेयर किया गया है।

Fact Check:-

रिवर्स इमेज सर्च से हमें पता चला के ये दोनों फोटो अलग अलग वाक्या से संबंधित है।

जिस फोटो में एक आदमी बिरयानी बांट रहा है। वो एक यूट्यूब थंबनेल की है। और 30 जून 2016 को हुए एक हिंदू-मुस्लिम त्योंहार “दम बिरयानी” की है। जिसमे 30 लोगों ने शिरकत की थी और उनके लिए ये बिरयानी बनाई गई थी।

और दूसरी फोटो जिसमे दवाई डाली गई है वो The Daily Mirror के एक article की है। जिसमे Sri Lanka की एक घटना का ज़िक्र है। जिसके अनुसार बाप और बेटा 40 लाख की गैर कानूनी दवाइयों के साथ पकड़े गए थे।

कोयंबटूर पुलिस ने इस ट्वीट पोस्ट की रिप्लाइ भी किया है जिसमे लिखा गया है के इस अकाउंट द्वारा डाली गई न्यूज पर ध्यान न दिया जाए क्योंकि ये Fake News  को बढ़ावा दे रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.